Author: Gulab Chand Sharma

Yaad Rakhna Poetry – मेंरी याद कभी रुलाए तो – Memories Poem

Yaad Rakhna Poetry – Memories Poem Yaad Rakhna Poetry मेंरी याद कभी रुलाए तो, मुझको भुला न देना, मेरी यादें मिटाने के लिए, मेरी तस्वीर न जला देना। अधूरे प्यार की निशानी, की तरह रख लो मेरे ख्यालों को, दर्द जब तुमसे सहा न जाए, तो, भुला देना। वैसे मुझे तुम्हारी याद, हर पल आती

Hindi Diwas Poem – हिन्दी गौरव – Poem on Hindi Diwas

Hindi Diwas Poem – Poem on Hindi Diwas in Hindi Hindi Diwas Poem हिन्दी गौरव हिन्द राष्ट्र की, हिन्दी है अभिमान हमारा, हिन्द और हिन्दी की रक्षा, करना है कर्तव्य हमारा। मत भूलो हर राष्ट्र की, अपनी इक पहचान होती है, उस राष्ट्र की राष्ट्र-भाषा ही, उस की आन, बान और शान होती है। हिन्दी

Dil Ki Baat Poetry – दिल की बातें कहूँ – Love Poem In Hindi

Dil Ki Baat Poetry – Love Poem In Hindi Dil Ki Baat Poetry दिल की बातें कहूँ कैसे? तेरे रूठ जाने की डर से डरता हूँ, सच ये है , वो मेरी दिलरुबा, बेइन्तहां मैं तुझपे मरता हूँ। तेरे संग संग रहना, तुझसे बातें करना, जाने क्यों दिल को मेरे भाता है! दूरी इक पल

Adhura Love Poem – अधूरे प्यार – Feeling Incomplete in Life

Adhura Love Poem – Feeling Incomplete in Life Adhura Love Poem अधूरे प्यार का सलाम मेरा ले जाओ, खुश रहने के लिए याद मेरी दे जाओ। मिले न शायद कोई आशिक मेरे जैसा! प्यार पाने के लिए प्यार मेरा ले जाओ। अंधेरी राह पर तुमको कहीं न चलना पड़े! इस लिए जलता हुआ दिल ये

Memories Love Poems – तेरी यादों का सहारा है – Memories Poem

Memories Love Poems – Memories Poem Memories Love Poems तेरी यादों का सहारा है,तो ज़िन्दा हूँ, तू है तो मैं भी तेरी यादों के बिना, जीने की मैं कल्पना भी नहीं कर सकता, जिस दिन तू याद न आई ! समझ लेना कि, अब मैं इस दुनिया में नहीं हूँ। मुझे मालूम नहीं क्यों ऐसा

Universe Poem – विश्व के साथ – Poem About India in Hindi

Universe Poem – Poem About India in Hindi Universe Poem आज विश्व के साथ कंधे से कन्धा मिलाकर, सबको एक साथ लेकर, भारत विश्व में अपना परचम लहरा रहा है, मेरा देश बदल रहा है। आज हर रोज़ कानों में, आज़ादी का शब्द गूँज ही जाता है, अच्छे दिन कब आएँगे? हर किसी से पूछा

Shikshak Diwas Poem – शिक्षक दिवस – Teachers Day in Hindi

Shikshak Diwas Poem – Teachers Day in Hindi Shikshak Diwas Poem आप सभी को शिक्षक दिवस की हार्दिक बधाई, गुरु के कारणों के रज को, जो सर से लगाया, सच कहता हूँ, जीवन में कभी दुःख न पाया है, गुरु सूरज की किरणों में ,निहित वह तत्व हैं, जो, पूरे शरीर को वज्र बना देता

Deewana Poem – कहाँ से सीखा है – Style Poem

Deewana Poem – Style Poem Deewana Poem कहाँ से सीखा है, वो जान ये अदाएं सारी? दिल तोड़ दी हो, फिर भी अपनी सी लगती हो, तेरे प्यार में मैं जान ऐसे खोया की, अब दीवाने भी मुझे दीवाना कहते हैं। तेरे ज़ुल्फ़ों से आजा खेलू ज़रा मैं, तुझे बाँहों में भर लूँ ओ जान

Common Man Poem – न मैं नेता-अभिनेता – Poem on Myself

Common Man Poem – Poem on Myself Common Man Poem न मैं नेता-अभिनेता, न मैं मंत्री, न व्यापारी हूँ, मुफ़्त की रोटियाँ तोड़ने वाला, न ही मैं नौकर सरकारी हूँ, लूट रहे हैं ये सब मिल जिसे, हाँ! उसी में, मैं भी शामिल हूँ, मैं एक आम आदमी हूँ। न मैं मियाँ- मौलवी, न मैं

Yaadon Mein Teri – तेरी यादों में लिखे हैं – Memories Poem

Yaadon Mein Teri – Memories Poem Yaadon Mein Teri तेरी यादों में लिखे हैं, जो फ़साने हमने, आ के गुन-गुना लो, तो दिल को चैन मिले। शर्मा के नज़रें, झुका लेना, तेरा हँस के निकल जाना, तेरी हर इक अदाओं पर, जो लिखे हैं नग़मे हमने, आ के इक बार जो गा लो, तो दिल

Without You Love Poem – तेरे बिन न रात – Poem on Loneliness

Without You Love Poem – Poem on Loneliness Without You Love Poem तेरे बिन न रात गुज़रे, न ही दिन गुज़रता है, रहूँ मैं तेरे साथ हरदम, दिल ये मेरा करता है, कैसे कहूँ जान मैं, ये दिल तुझपे मरता है। मेरी नज़रों बसी, बस तेरी ही तस्वीर है, मुझको लगता है ओ जॉना! तू

Love Feelings Poem – ऐसे जाओ न – Feelings Poems for Her

Love Feelings Poem – Feelings Poems for Her Love Feelings Poem ऐसे जाओ न, मुंह मोड़ के, यूं हमें तन्हा छोड़ के, दिल की सुन लो, पुकार ओ सनम, ऐसे जाओ न, दिल तोड़ के। अब हवाएँ भी अपनी, रुख बदल रहीं हैं, न जाओ सनम, ये फिज़ाएँ भी कह रही हैं, यूँ हमें छोड़

Ghazab Poetry – प्यार गज़ब की चीज़ – Heart Touching Love Poem

Ghazab Poetry – Heart Touching Love Poem Ghazab Poetry प्यार गज़ब की चीज़ है, यारो, हर कोई बतलाता है, जिसको सबसे ज़्यादा चाहो, अक्सर वही रुलाता है। सच्चा प्यार किया था उनसे, कभी न कोई शिकवा की, काँटे अपनी राहों पर और, फूल उनपर बिछवा दी, शूल से ज़्यादा, झूठा वादा उनका, दिल में मेरे

Hindi Love Poem – जिधर देखूँ – उधर बस तू Romantic Love Poem

Hindi Love Poem – Romantic Love Poem in Hindi Hindi Love Poem जिधर देखूँ, उधर बस तू, नज़र आती हो, न जाने क्यों? दीवानो की, तरह मैं देखूँ, तेरा रस्ता, न जाने क्यों? ये पहली बार हुआ है कि, किसी को दिल ने चाहा है, न जाने क्यों तेरा ही नाम, अब दुवाओं में भी

Love Poem in Hindi – आजा बाहों में भरलूँ – Love Poem for Her

Love Poem in Hindi – Love Poem for Her in Hindi Love Poem in Hindi आजा बाहों में भरलूँ तुझे, आज खुशियां लुटा दूँ मैं, आँखों में मैं बसा लूँ तुझे, आजा अपनी धड़कन बना लूँ मैं। तेरी साँसों की ये गर्मियाँ, तेरे होठों की नर्मियाँ, जान ले ले कहीं न मेरी, तेरी आँखों की

Pin It on Pinterest