Tag: Faith Poetry

Part Poem – तेरे हिस्से का है तो मिल जायेगा – Poem on Faith

Part Poem – Poem on Faith Part Poem तेरे हिस्से का है तो मिल जायेगा, ना मिला जो तेरे हिस्से में नही था। खोने का है तो सबकुछ खोएगा, जो मिल गया कुछ वो खोना नही था। दर्द तो बहाना देता है जिंदगी को, खुशियों का खजाना हमेशा तेरा ही था। तेरे हिस्से का है

River Ganga Poem – युग युग से धोती रही पाप – Poem on Ganga

River Ganga Poem – Poem on Ganga River Ganga Poem युग युग से धोती रही पाप कोई न सुना मेरा प्रलाप मद में डूबे इंसानों की वहशी भक्षक हैवानो की चमड़ी धोकर कर दी पवित्र पर उजले कब इनके चरित्र इन शहरों के मल को ढोती मैं बिन आँसू रहती रोती उध्योगों से निकला यह

Poem on Hope and Faith – ज़िक्र ए वफ़ा – Life Poetry in Hindi

Poem on Hope and Faith – Life Poetry in Hindi Poem on Hope and Faith ज़िक्र ए वफ़ा में उनके मेरा नाम आ गया है अब इश्क़ भी सियासत के काम आ गया है छिपा कर बगल में रखते हैं हरदम छूरियाँ जिनकी ज़ुबाँ पर अक्सर राम आ गया है तोला किये हैं ज़िन्दगी मतलब

Money Donation Poem – भेंट – Poem About Reality

Money Donation Poem – Poem About Reality Money Donation Poem भेंट दे आते है मंदिरों में बड़ी बड़ी रकम वो, हां गुप्तदान, ऐसा दान जिसमे किसी को पता न चले, किसने, कितना दिया। जाहिर है ये भेंटें, भगवान् को समर्पित होती है, किससे गुप्त? ईश्वर से? क्या उस से कुछ गुप्त रखा जा सकता है?

Ayodhya Ram Mandir – राम मंदिर की करो तैयारी – Poem on Faith

Ayodhya Ram Mandir Ayodhya Ram Mandir राम  मंदिर  की  करो तैयारी, आ गया है  भगवा  धारी, पूरा यू.पी डोल रहा है, योगी योगी बोल रहा है, बोलो जय श्री राम. तेल लगाओ डाबर का, नाम मिटाओ बाबर का, फल खाओ आम का, और… मंदिर बनाओ श्री राम का, बोलो जय..श्री.राम. मक्का वाले मक्का जाओ, खुदा

Hindi Poetry on Life – Kaun Kehta Hai – Poem on MySelf

Hindi Poetry on Life Hindi Poetry on Life कौन कहता है की मैं खाली हाथ चलता हु, हाथ मैं कलम लिए तलवार की धार चलता हु, अपने पुरखो का लेकर आशीर्वाद चलता हु, झुक गए जिस के सामने बड़े बड़े, वो लेकर हाथ मै हथियार चलता हु. रुक ना जायूँ, झुख ना जायूँ, कुछ गलत

Pin It on Pinterest