Tag: Short Hindi Poems

Ambition Poem – चाहत है कविता – Poem on Ambition in Hindi

Ambition Poem – Poem on Ambition in Hindi Ambition Poem ना लालकिले की चाहत है ना चाहत चैनल वालों की ना भूख लेखनी को मेरी नोटो की और निवालों की कुछ ऐसा कर लूँ जिससे मैं सोयी गैरत को जगा सकूं दीनों के घर में दे उजास तम के भय को मैं भगा सकूं भारत

Rohingya People – रोहिंग्या लोग – Poem on Anger in Hindi

Rohingya People – Poem on Anger in Hindi Rohingya People पूरा विश्व जिसके जिहाद से है बर्बाद, ये वही आतंक की मशीन माँगने लगे, देश के सपेरे वोटबैंक को नचाने हेतु, और नागों के लिए भी बीन माँगने लगे. धीरे-धीरे होता देश खुशहाल किंतु ये तो, देश का भविष्य ग़मगीन माँगने लगे, काश्मीरी पंडितों का

Kashmiri Pandits – आवाहन – Short Poem on Life

Kashmiri Pandits – Short Poem on Life Kashmiri Pandits कातिलों का कारवां कटार लेके आ रहा है, कोई भी भविष्य-नब्ज़ को टटोलता नहीँ, करने लगे हैं बोटियों का इंतजाम किंतु, काश्मीरी पंडितों पे कोई बोलता नहीँ. मौन हो गए हैं राजनीति के हिमायती भी, कत्लेआम पे ये सिंहासन डोलता नहीँ, हिन्दुओं के रक्त से म्यांमार

Lal Bahadur Shastri Poem – Poem on Lal Bahadur Shastri

Lal Bahadur Shastri Poem – Poem on Lal Bahadur Shastri Lal Bahadur Shastri Poem Image Source: Internet शास्त्री जी की जयंती पर हृदय से नमन – कश्मीर का कोई पता नहीँ जम्बू का निशां नहीँ होता, गुजरात सिमट जाता आधा उत्तर भी बचा नहीँ होता, शिमला में आग लगी होती जयपुर की लाली गुम होती,

Sacrifice Poem – सिखों की कुर्बानियां – Poem on Soldiers

Sacrifice Poem – Poem on Soldiers Sacrifice Poem सिक्खों की कुर्बानियों का कर्ज ना चुका सकोगे, पूरे इतिहास की रवानी देख लीजिए, दसों सिक्ख गुरुओं का त्याग बलिदान और, बन्दा बहादुर की कहानी देख लीजिए. अर्द्धरात्रि वाला खौफ, शावकों का स्वाभिमान, वीरता की अमिट निशानी देख लीजिए, चकमौर युद्ध में लड़ी थी सवा लाख से

Forgotten Poem – शौर्य भूलकर – Poem on Anger in Hindi

Forgotten Poem – Poem on Anger in Hindi Forgotten Poem शौर्य भूलकर सिंह जिये सियारों की भाँति कायरों सी बनी पहचान को बदल दो गोरों की गुलामियों में गीत जो गाया था हो सके तो उस राष्ट्रगान को बदल दो. द्रोहियों को बेल और देशभक्तों को दे जेल ऐसी धाराओं ऐसे विधान को बदल दो

Corruption Poems – जाँच हुई मन्द – Corruption Poem in Hindi

Corruption Poems – Corruption Poem in Hindi Corruption Poems जाँच हुई मन्द कहीँ हुआ तो नहीँ प्रबंध? भ्रष्ट्राचारियों से सुर ताल मिल जाए ना दाल में काला था कभी अब हो गया ये हाल जनता को पूरी काली दाल मिल जाए ना. सारी-सारी रात अंधियारे में गुजरती है राह में किसी का कोई काल मिल

Humanity Poem Hindi – एक ही बनावट है – Poem on Humanity

Humanity Poem Hindi – Poem on Humanity Humanity Poem Hindi एक ही बनावट है एक ही सजावट है किसी एक में ही ईश-रक्त नहीँ मानता सब ही निवासी यहाँ, सब ही प्रवासी यहाँ अच्छा था सदा किसी का वक्त नहीँ मानता. जातियों के नाम पे जो करते हैं तोड़फोड़ उनको मैं भीम से आसक्त नहीँ

Politics Par Kavita – तुमको भरोसा नही – Poem on Politics

Politics Par Kavita – Poem on Politics in Hindi Politics Par Kavita तुमको भरोसा नहीँ चुनाव आयोग पे तो पहले ही चुनाव का बहिष्कार करते देश के प्रधान पर बाँटने लगे हो ज्ञान पहले ही न इनका तिरस्कार करते. फिक्र इतनी हुई है यदि देशवासियों की तो पहले पंजाब का परिष्कार करते आलू डालने से

Anger Poem – गिद्धजीवी जवाब दें – Poem on Anger in Hindi

Anger Poem – Poem on Anger in Hindi Anger Poem जिनकी जुबान में भरा जिहाद का जहर उनके दिलों में है भलाई कैसे बोल दूँ मौन हो प्रशासन बनें कईं दुशासन तो शम्भू वीर को मैं आताताई कैसे बोल दूँ हिंदुओं ने भी किया है अत्याचार धेनु पे तो दोषी सिर्फ तस्कर कसाई कैसे बोल

Corruption Hindi Poem – रात्रि ने मिटा दिए – Corruption Poem

Corruption Hindi Poem – Corruption Poem Corruption Hindi Poem रात्रि ने मिटा दिए हैं अंधकार के निशान भोर होते-होते परछाई भी खरीद ली कोहरे की चादर लपेट भानु सो गया है रजनीचरों ने रोशनाई भी खरीद ली. छोटे-छोटे चोरों ने खरीद लिए थानेदार बड़े चोरों ने तो प्रभुताई भी खरीद ली देशभक्तों ने खरीद डाले

Soldiers Poem – अहिंसा वाला पाठ – Poem on Indian Soldiers

Soldiers Poem – Poem on Indian Soldiers Soldiers Poem जिन्होंने अहिंसा वाला पाठ न पढ़ा हो कभी आप एक बार ऐसे रक्षक तो बनिए युद्ध के नियम नीतियों को छोड़ शत्रुओं को काटने वाले वो वीर तक्षक तो बनिए. आस पास आए जो भी मृत्यु-मुख में समाए आप ब्लेकहोल वाले कक्षक तो बनिए पीओके तो

Hindi Kavita on Love – हाशिये पर प्रेम – Poem on Love in Hindi

Hindi Kavita on Love – Poem on Love in Hindi Hindi Kavita on Love चेहरों की किताबों पर चढ़े वर्क ढक लेते हैं संवेदना की लकीरों को गहरे सागर के भँवर में, डूब कर  बार बार उतराती हैं अनुभूतियाँ अस्तित्व की कशमकश, अक्सर बढ़ा देती है माथे की शिकन क़िस्मत की लकीरों में उत्तर खोजती

Feelings Poem – मुक्ति – Poem Feelings of Life

Feelings Poem – Poem Feelings of Life Feelings Poem कुछ बातें परे होती है द्वेष से राग से कुछ बातें अलग होती हैं हानि से लाभ से कुछ बातें मुक्त होती है मान से अपमान से परंतु मुक्त कहाँ हो पाता है मन कभी अपनी पहचान से  

Life Journey Poem – ये सफ़र कौन सा है – Short Poems About Life

Life Journey Poem – Short Poems About Life Life Journey Poem ये शहर कौन सा है ये बसर कौन सा है अजनबी सभी यहाँ ये असर कौन सा है न धूप है न तीरगी ये पहर कौन सा है धड़कनों मे बह रहा ये ज़हर कौन सा है शिकस्त साथ मे लिए ये गुज़र कौन

Pin It on Pinterest