Tag: Women Poetry

Respect Women Poem – फीते से जो नाप रहा था – Poem on Anger

Respect Women Poem – Poem on Anger Respect Women Poem फीते से जो नाप रहा था नारी की कद काठी को, तुष्टिकरण में बेंच दिया है जिसने अपनी माटी को, जिसने चोरों के संग में अपनी बारात सजाई है, शायद कई दरिंदों की भी जिसने प्यास बुझाई है, वह बुड्ढा आवाज़ मिलाता है कैसे सुर

Strong Women Poem – पीटी उषा साक्षी-सिन्धु मैरीकॉम – Poem

Strong Women Poem – Women Poem Strong Women Poem पीटी उषा साक्षी और सिन्धु मैरीकॉम से ही पूरी दुनियाँ में बढ़ी शान मेरे देश की सीमा पे खड़ी हज़ारों लक्ष्मी सी वीरांगनाएं इन पे टिकी हुई है आन मेरे देश की. बॉलीवुड की उद्दंड अदाकाराओं से नहीं दुनियाँ में आज पहचान मेरे देश की अमर

Hindi Kavita on Nari – कविता में स्त्री – 1 – Hindi Poem on Women

Hindi Kavita on Nari – Hindi Poem on Women Hindi Kavita on Nari उसकी लहराती ज़ुल्फ़ों से कविता में बहारें आती हैं या फिर, उमड़ घुमड़ कर फिजाँ में घटायें छाती हैं उसकी मुस्कान से कविता में उम्मीद के बादल उमड़ते हैं उसकी तिरछी चितवन भी कविता में बिजलियाँ गिराती है तुम्हारी कविता के प्रवाह

Hindi Kavita on Nari – मुझे नहीँ चाहिए – Hindi Poem on Women

Hindi Kavita on Nari – Hindi Poem on Women Hindi Kavita on Nari मुझे नहीं चाहिए तुम्हारे वायदों का सागर जिसमें तैरती हैं सुनहरी मछलियाँ और मै डूब जाती हूँ मुझे नहीं चाहिए अवसर रोटी के लिए चूल्हे में जलने का शाम की प्रतीक्षा और पेट की तरह पलने का मुझे चाहिए आत्म निर्णय का

Poem on Women Empowerment – स्त्री – Poem on Women in Hindi

Poem on Women Empowerment – Poem on Women in Hindi Poem on Women Empowerment तुम्हारे नाम दर्ज़ हैं कितने व्रत, कितने उपवास हर बार कर लेती हो यातनाओं में प्रेम की तलाश स्त्री तुम ज़िन्दगी में अनुभूतियों की व्यथा हो स्त्री तुम संवेदनाओं की जीती जागती संस्था हो क्यों नही होता, कुछ भी तुम्हारा, कभी

Women Poem – कविता में स्त्री – Poem of Beauty of a Woman

Women Poem – Poem of Beauty of a Woman Women Poem कवि नज़र में केले के पेड़ युग्म शीर्षासन करते हैं तब जाकर स्त्री की टांगों का रूप धरते हैं वक्ष के उभार में तुम्हारी कविता इतनी खो गई स्त्री ह्रदय को देखने से पहले ही बे सुध हो गई कविता सदा तत्पर रही भरने

BHU Case – BHU प्रकरण के संदर्भ में – Short Poem on Bravery

BHU Case – Short Poem on Bravery BHU Case अबला नहीं तुम जान लो, फरियाद करना छोड़ दो, हक़ अगर कोई छिने तो, हाथ उसका तोड़ दो, जीतना है रण अगर तो, कूद जा मैदान में, खींच ले तलवार अपनी, जो पड़ी म्यान में, आँसुओं से भींग न अब, रक्त की गंगा बहा, देख टिकता

Haiku Poem – विरही नार – Poem on Women in Hindi

Haiku Poem – Poem on Women in Hindi Haiku Poem विरही नार, पिया का इंतजार, करे श्रृंगार। प्यासी आँख, काजल कर शांत, निहोरे राह। अँधेरी रात, चमकती बिंदिया, पिया की याद। झूमे झुमका, लाता हवा का झोंका, पिया सन्देश। बिखरे बाल, नथुनिया कमाल, गुलाबी गाल। माँग का टीका, पाँवों में पैजनियाँ, गले में हार। आ जा

International Womens Day – एक ब्रह्ममंड तुम – Hindi Poetry

International Womens Day – Hindi Poetry International Womens Day पूरा समंदर हवाएं और भवंडर ये सब तुम्हारे पर्याय हैं, चाँद और चाँदनी सूरज की रोशनी ये सब तुम्हारे साए हैं। फूल और खुशबू रंग और जादू ये सब तुम्हारे ज़ेवर हैं, शीतल पानी पर्वतों की वाणी ये सब तुम्हारे तेवर हैं। ज़मीन ओ आसमां महफूज़

Women Poem – बड़ा फर्क था उसमें और मुझमे – Poem on Women

Women Poem – Poem on Women in Hindi Women Poem बड़ा फर्क था उसमें और मुझमे, वो पुरुष था, पौरुष से परिपूर्ण, गंभीर, शांत, स्थिर, सौम्य, भरा सा, और मैं औरत, पत्नी,ब हू, माँ, रिश्तों के फंदे में गूँथी, अस्थिर, गहरी, अशांत, विचलित चित्त, पल में रोना, दूसरे पल हँस देना। जिम्मेदारियों और कर्तव्यपरायणता से,

Women Empowerment Poem – हर बार इसी तरह – Women Poem

Women Empowerment Poem – Poem on Women in Hindi Women Empowerment Poem हर बार इसी तरह, कभी जानबूझ कर, कभी अनजाने में, दे जाता था कोई न कोई विषय, पागल बन सोचने के लिये। हर रोज बात करना, चर्चा करना राजनीति से लेकर, मनुष्य हृदय, सिनेमा, कोई कहानी, लेखक हो या महानगरों के दमघोटू रोजमर्रा

Pin It on Pinterest