Respect Woman Poem – रानी पद्मावती – Woman Poetry

Respect Woman Poem – Woman Poetry Respect Woman बॉलीवुड का खेल अजब है जिसने इतिहास की गरिमा लुटाया है । चन्द पैसों के लिए ईमान को भी खोया है झूठी शोहरत झूठी आन ही केवल पाया है । पद्मावती की गरिमा घटाकर क्या तुमने पाया है कुछ तो शर्म करो कैसी भूल करता आया है

Birds Poetry – Poem About Birds in Hindi – अंतर्मन

Birds Poetry in Hindi Birds Poetry मेरे घर के मुंडेर पर नित एक चिड़िया आती है फुदक – फुदक कर दाने चुुगती मन को मेरे हर्षाती है । अंतर्मन में उसके लिए अपार स्नेह बरसता है जैसे वह हो कोई मेरा सच्चा साथी देख हृदय कमल खिल उठता है । आजाद होकर ये चिड़िया नील

Brother – Poem on Brother in Hindi Language – भाई

Poem on Brother in Hindi Language Brother मुझे एक भाई बड़ा ही प्यारा मिला अंजाना सा रिश्ता बड़ा न्यारा लगा। थी बहुत मायूस अपनों की हरकतों से बस परायों से बड़ा दिल को सहारा मिला। यूं कहने को तो मेरे भी अपने भाई हैं लेकिन हर फर्ज से वह नाकारा मिला। मिला दिल को बड़ा

Truth Poem About Life – आजकल की बातें – Poem Time

Truth Poem About Life Truth Poem – Poem on present time आजकल हर चेहरा नकाबपोश होता है जिसे देखो वही एहसान फरामोश होता है जुल्मों को सहते लोग जमाना भी न जाने क्यों खामोश होता है अपना ऐब नजर आता नहीं किसी को बस दूसरे में दोष होता है दूसरे के घर में ताका- झांकी

Poem Experience in Life – जिंदगी का अनुभव – Life Poem

Poem Experience in Life Poem Experience लिखना था मेरा फसाना पर मिला नहीं कोई बहाना जिंदगी मेरी बनी किसी का निशाना मत मुझसे अब दोस्ती कोई फरमाना कि सभी हैं मेरे लिए अनजाना सर्दी का मौसम है नहीं सुबह में नहाना आज नहीं तो कल मुझे भी मिलेगा ठिकाना क्यों किसी को बेवजह रूलाना मौसम

Toys Poem in Hindi – मासूम गुड़िया – Poem About Toys

Toys Poem in Hindi Toys Poem एक छोटी सी गुड़िया थी हमेशा हंसती मुस्कुराती जिंदगी को बहुत हसीन मानती थी फिर वह गुड़िया छोटी से बड़ी हुई सपनों की दुनिया में रंग भरना चाहती थी सबके लिए कुछ खास करना चाहती थी अपनी जिंदगी में प्रेम के दीए जलाने चली थी पता नहीं था उसे

Money – Funny Poem About Money – दौलत- Poem Money

Funny Poem About Money Money धन दौलत की महिमा अपार रिश्तों को करे है तार तार । सभी को लगी दौलत की धुन इसके बिना नहीं कोई पुण्य । कैसा ये भयानक दौर आया जिसने रूह को भी तड़पाया । इसकी प्यास तो सबको ही भरमाया अपनों को छोड़ गैरों की महफिल में गाया ।

Prayer – शंख – Prayer Poem – Poem on Prayer in Hindi

Prayer Poem Prayer हे राम विनती पूरी करो शरण में लो हूँ भक्त तेरा मैं तेरे दर आया हूँ राह से भटका हुआ ज्ञान की ज्योत जगा दे जिंदगी आसां बना दुखड़े मिटा दे करम करो सीताराम तेरा हूँ ईश मैं Amazon Fire TV Stick with Voice Remote | Streaming Media Player by Amazon (10017)

Inspirational Poem About Life – जीवन पथ पर चलता जा

A Inspirational Poem About Life Inspirational Poem जीवन पथ पर चलता जा कर्म इंसान तू करता जा बाधा आती है आने दो लेकिन तू न हिम्मत हारो हंसकर संकट को भी टालो यही सुन्दर नीति अपनालो जीवन पथ पर चलता जा कर्म …………………….। मिलेंगे तुमको अनेकों दुष्ट जो करेंगे तुमको हरपल रूष्ट इसलिए खुद तू

Fake Baba – Poem About Cheating – बाबा व्याभिचारी

Fake Baba Fake Baba आजकल हर तरफ है व्याभिचारी कहते जिसे हम भक्त पुजारी वही निकलता हुस्न का जुआरी जनता की भी है यही लाचारी अंधविश्वास से जकड़ा है अधिकारी। किसे सुनाएँ अपनी फरियाद कौन कितना यहां रखता याद सभी को लगा अंधविश्वास का स्वाद देनी पड़ेगी बाबाओं को भी दाद। जो धर्म भ्रष्ट कर

Dowry System Poem – दहेज प्रथा – Poem Dowry

Dowry System Poem in Hindi Dowry System हां दर्द दिलों के थोड़े कम हो जाते गर दहेज प्रथा का अभिशाप मिट जाते लड़कियों को भी हक मिल जाते जो उनके वजूद का कोई मोल न लगाते दुनिया में भी इन्कलाब आ जाते जो लोगों के दिलों में ये सोच आ पाते गरीबों को भी नयी

Life Journey – सफर – Poem About Life Journey – Life Poetry

Poem About Life Journey Life Journey – Life Poetry in Hindi अनजान सा सफर था अनजान सी ख्वाहिश रूह बेचैन जाने क्यूं पर कोई तसकीन न था मतलबी लोग बहुत थे पर कोई सच्चा न था मां का बेटा भी न जाने क्यों मां का भी न था गरीब के घर दौलत नहीं फिर भी

Nari – Sad Poem About Life – बंदिश – Hindi Kavita on Nari

Hindi Kavita on Nari Nari एक थी विमला उसने अपना विवाह रचाया उसका पति अमन जिसने साथ निभाया बहुत खुशहाल और सुखमय जिंदगी थी उनकी एक-दूसरे के प्रेम में खोए घर को जन्नत बनाया कुछ दिनों बाद काल ने ग्रहण लगाया लूटी विमला की खुशी उसे खूब रूलाया एक दुर्घटना में अमर की मौत हो

Hey Sharde Maa – हे मां शारदे – Hey Sharde Maa Prayer in Hindi

Hey Sharde Maa Hey Sharde Maa हे मां शारदे विनती तू सुन ले चरण स्पर्श वाग्देवी तुम ज्ञान का भंडार तू हम अज्ञानी ज्ञान बरसा हे कमलआसनी हे सरस्वती वीणावादिनी चरणों में तेरी हम शीश झुकाते हंसवाहिनी हम दीन बाल हैं दास तेरे मां कृपा तेरी जो दुखड़े हर ले अपना बना धूल हैं हम

Republic Day – गणतंत्र दिवस – Republic Day Poem

Republic Day Poem Republic Day तिरंगा लहर रहा सबका मन चहक रहा देशभक्ति की ज्वाला धधक रहा गणतंत्र दिवस आज महक रहा देश का दुश्मन तड़प रहा हार पे अपनी बिलख रहा खुशियाँ मनाने को दिल मचल रहा गीत की धुन सुन सीना धड़क रहा अपना हिंदुस्तान सुधर रहा जीवन सबका संवर रहा आजादी के

Mother – A Poem on Mother – माँ – A poem About Mother

A poem About Mother Mother – a poem in hindi जग की मैया तू सबकी खेवैया पड़ूं मैं पैंया पालनहार तू ही तारणहार हो बेरा पार विश्व विख्यात न करती आघात तू मेरी मात मैं हूँ बंजारा तू ही एक सहारा दे मां किनारा मां तुम भोली मां तू हो शेरावाली मैं हूं सवाली प्रचंड

Love Description – Poem About Love – प्रेम – Love Poetry

Love Description Love Description प्रेम है पूजा प्रेम से बड़ा न कोई दूजा और प्रेम ही जीवन का सार है प्रेम बिन कुछ भी नहीं नगण्य ये पूरा संसार है प्रेम का जो तिरस्कार करते उनकी विद्वता भी बेकार है उनकी कोई पहचान नहीं मानवजाति से न कोई सरोकार है राधा का प्रेम मीरा का

Happy New Year Poem – नववर्ष की बधाई – New Year Poetry

Happy New Year Poem Happy New Year Poem मेरी तरफ से नववर्ष की हार्दिक बधाई हो आपकी मनोकामना पूर्ण होने की घड़ी आयी हो जो भी पीड़ा से ग्रस्त हों आप मुक्ति उससे पायी हों नवजीवन का संचार जन – जन के हिस्से आयी हो हमारी दुआ कबूल होने की रूत आयी हो हर मनोरथ

Betiyan – Poem on Daughters in Hindi- मैं इस समाज को समझ

Hindi Poem on Betiyan Betiyan मैं इस समाज को समझ नहीं पाई, मां-बाप के घर में सुना बेटी कि है पराई, डोली में तुम जाना, हमारा मान बढ़ाना, बिना बुलाए मायके में मत आना, कभी पीहर पर मत इतराना, उस घर में डोली में जाना, अर्थी पे वापस आना| मैं इस समाज को समझ नहीं

Wife – Poem on Wife in Hindi – पत्नी की दशा – Poem on Women

Poem on Wife in Hindi Wife वह सुबह, 5 बजे उठ जाती है, निस्वार्थ भावना से, काम मे लग जाती है, अपने सास ससुर का, और अपने बच्चों का, अपने पति का, ख्याल रखती है, सुबह के नाश्ते, से लेकर, रात के खाने तक, वह भागती रहती है, सास पुकारती है, बहु मेरी चाय, बच्चे