Category: Hindi Poetry

Naya Saal Poem – नया साल मुबारक हो – Inspirational Poem

Naya Saal Poem – Inspirational Poem Naya Saal Poem नए साल में चलो नया, करने की ठान लेते हैं! तुम बन जाओ मेरी ताकत, हम तुम्हें अपनी शक्ति मान लेते हैं। दुःख की हिम्मत न हो, हमसे पंगा लेने की! किसी की हिम्मत न हो, हमसे दंगा करने की! आओ हम सब मिलके, एकता की

Sathiya Song – साथिया – Poem About Love

Sathiya Song – Poem About Love Sathiya Song रहने दो साथ अपना, जब मोहब्बत ही नहीं है। तेरी तस्वीरों का क्या करेंगे? जब तेरी यादें ही नहीं हैं …. साथिया ….3 भूल के तुझको, मैं भूल न पाऊँगा! जिस दिन भूला तुझे, मैं मर जाऊँगा …साथिया….3 अब जी के क्या करूँगा? जब वजह ही कुछ

Love Poem Hindi – प्यार बयाँ कैसे करे – Romantic Love Poem

Love Poem Hindi – Romantic Love Poem Love Poem Hindi हाले दिल अपना सनम, तुमसे बयाँ करें, तो कैसे करें? रूठ जाओगे …2 इज़हारे मोहब्बत कैसे करें? हर घड़ी नाम तेरा, मेरे लबों पे रहता है। हर कोई मुझको, तेरा दीवाना कहता है। समझ जाओ न..2 दिले प्यार बयाँ कैसे करें? दिल में ज़ज़्बात कई

Krishna Bhakti Song Hindi – कन्हईया – Prayer Song in Hindi

Krishna Bhakti Song Hindi – Prayer Song in Hindi Krishna Bhakti Song Hindi जाते हो तो, चले जाओ, पर आखिरी बात मेरी सुन के जा! कन्हईया…. बिन तेरे श्याम, न जी पाएंगे! बिछड़ के तुझसे, मर जाएंगे !!-2 तोड़ के नाता जाना है, तो जाओ !! पर प्रेम भरा दिल ने तोड़ के जा! कन्हईया….

Song Poem – समझाएँ किसे? – Poem on Heart in Hindi

Song Poem – Poem on Heart in Hindi Song Poem दर्द भरे मैं गीत सुनाऊँ किसे? सब बेवफा हैं अपना बनाऊँ किसे?? अपना बनाऊँ किसे…. 2 दिल से खेलते हैं दिलवाले! हो … दर्द भरे……………।।-2 इस जग की कुछ रीत है ऐसी! दिल तोड़ सभी जाते हैं !! कुछ दिन मोहब्बत की रश्मे निभा के,

Sad Poem – मुझको रुला देगी – Sad Love Poem in Hindi

Sad Poem – Sad Love Poem in Hindi Sad Poem छोड़ कबकी गई है ओ, न जाने कब भुला देगी ।-2 दे जाओ मेरी याद सारी तुम, वरना ये तुमको रुला देगी ।।-2 रहकर झोपड़ी में मैंने, महलों का ख्वाब देखा था ।-2 भुला देंगी मुझे ओ इस तरह, कभी मैंने न सोचा था ।।-2

My Moon Poem – न मेरा चाँद नज़र आया – Love Poem for Her

My Moon Poem – Love Poem for Her My Moon Poem आज तेरी गली से, जो मैं गुज़रा, दर्द मीठा-मीठा-सा, उभर आया। चाँद-तारे नज़र मुझको, आये बहोत, मगर न चाँद मेरा नज़र आया।। तुझको मुझसे मोहब्बत नहीं है, तो क्या? बेपनाह मैं मोहब्बत तुझसे करूँगा। तू न माने मुझे यार अपना, तो क्या? मैं हूँ तुझसे शुरू खत्म तुझपे ही हूँगा! तेरे घर के बगल से जो गुज़रा मैं, तेरे दरवाज़े पर दिल अपना रख आया।। क्या कहूँ बात अपने मैं महबूब की! चाँद भी देखकर उनको शर्मा जाता है। उनकी एक झलक महज़ पा जाने को, मज़मा दीवानों का रोज़ लग जाता है। उनकी नज़रों से मेरी जो नज़रें लड़ी! सारा सुध-बुध वहीं मैं खो आया।।

Courage Poem – न रुका हूँ – Self Confidence Poem in Hindi

Courage Poem – Self Confidence Poem in Hindi Courage Poem न रुका हूँ , न रुकूँगा ! लक्ष्य अपना पा के रहूँगा ! बाधाओं भरी सैलाब के आगे, घुटनों के बल न गिरूँगा । तंज कसता है कोई गर, ताने देता हो भी तो क्या ! जब तक न मंज़िल मिले! कदम दर कदम आगे

Zindagi Poem Hindi – बस कर रे ज़िन्दगी – Poem About Life

Zindagi Poem Hindi – Poem About Life Lessons Zindagi Poem Hindi बस कर रे ज़िन्दगी, तड़पाना छोड़ दे ! देख न ! तेरा साथ देते-देते कितना बूढ़ा हो गया हूँ !! बचपन में भूखे पेट जगाई, जवानी में रोटी के पीछे भगाई ! अब बुढ़ापा है ; चैन ले लेने दे ! बस कर रे

Purpose Poem – असफलता भी एक सफलता है – Hindi Poem

Purpose Poem – Hindi Poem Purpose Poem लक्ष्य है आसमान के, बुलंदियों को छूने की ! पर कुतर दो फिर भी, लक्ष्य भेदने का जज़्बा है साहेब ! हार नहीं मानूँगा ! लोगों का क्या ? वे तो हर चमकती चीज़ को, हीरा समझ जाते हैं ! और परिश्रम की धूल में, लिपटा हुआ कोहिनूर

Hindi Prem Kavita – लाचार मुहब्बत – Mohabbat Poem In Hindi

Hindi Prem Kavita – Mohabbat Poem In Hindi Hindi Prem Kavita हर सफर मेरा ,नाउम्मीद का सहारा बन बैठा! जिसके इंतजार मे थे बेसहारा बन बैठा! किस्मत की लकिरों को तकते रहे हम, वो किसी और का हमसफर बन बैठा!! खामोशियों ने तान रखीं थी चादर, प्यार मेरा किसी और का सहारा बन बैठा!! कभी

Heartbeat Poem – खामोश धड़कने – Love Poetry

Heartbeat Poem – Love Poetry Heartbeat Poem संभल संभल कर चल रहा था तेरी मुहब्बत में! न जुबां बोलती थी, न धड़कनों पर था इख्तियार मेरा!! कदम-कदम पर वो एहसास तेरा , अदावते तेरी! हौले से कानों मे बुदबुदाती मिठी आवाज तेरी, उस छुअन का पहला अहसास और खामोश धड़कने मेरी!!  

Election Poem – रंगासियार (चुनावी नेता) – Politician Poem

Election Poem – Politician Poem Election Poem जनता के गलियारे में भूखे नेता घुम रहें ! कल तक थे जो ए०सी० में आज दुपहरी घुम रहें!! अपने स्वार्थ की सिद्धि में हर पल माथा टेक रहें! नंगे पाव नौटंकी करके जनता का दिल जीत रहें!! कभी गाँव का मुखिया बनते कभी शहर का ठेकेदार! हरपल

Hungry Poem – भुखमरी को श्रद्धांजलि – Hindi Poem on Life

Hungry Poem – Hindi Poem on Life Hungry Poem भूख के समीकरण की बिछी हुई बिसात है, शतरंज के इस खेल में बस शह और मात है. मौत के मुआवज़े भी हैं मौत के इनाम भी, मौत की सियासत में मौत के कोहराम भी, चारो तरफ फैला हुआ मौत का व्यापार यहाँ, मौत को मिलती

Festival Poem in Hindi – दीपावली – Deepawali Poem

Festival Poem in Hindi – Poem on Deepawali in Hindi Festival Poem in Hindi संवेदनाएं अभी कितनी, संत्रास में पड़ी हैं, अनुभूतियाँ भी कितनी, वनवास में पड़ी हैं, जीतना ही होगा हमें, अंदर के दशानन को, साथ लेकर युद्ध में, निष्ठा के लक्षमन को, प्रेम की गंगा सदा ही, ह्रदय में उमड़ी रहे, हर तरफ