Holi Poem In Hindi – होली है भई होली है – Holi Kavita In Hindi

Holi Poem In Hindi – Holi Kavita In Hindi

Holi Poem

होली है भई होली है,
खूब सजी रंगोली है,
घुजिया, मिठाई लाओ भाई
आई रंगों की डोली है,
होली है भई होली है।

सब को रंग लगाएंगे
नाचेंगे सब गाएंगे
छत पर चढ़ कर, गली में छुप कर
सब भीगेंगे भिगाएँगे,
यही तो आँख मिचौली है,
होली है भई होली है।