Life Without You – ज़िंदगी उसके बिना – Hindi Poem on Zindagi

Life Without You – Hindi Poem on Zindagi

Life Without You

दर्द बढ़ता ही गया, शौक की इंतेहाँ न हुई
गुलों का साथ था मगर, खुश्बू मेहरबाँ न हुई
आँधियों की साज़िश मे, मौसम उलझ गया
गुलशन उजड़ने की कभी, ऐसी दास्ताँ न हुई
ख्वाब सब बिखर गये, खामोशियों के ख़ौफ़ से
ज़िंदगी उसके बिना, इतना कभी तनहां न हुई