Man and Woman Poem – पुरुष यदि प्रभात है – Life Poetry

Man and Woman Poem – Life Poetry in Hindi

Man and Woman Poem

पुरुष यदि प्रभात है
तो नारी उषा है

पुरुष यदि मेघ है
तो नारी विद्युत है

पुरुष यदि अग्नि है
तो नारी ज्वाला है

पुरुष यदि आदित्य है
तो नारी प्रभा है

पुरुष यदि तरु है
तो नारी लता है

पुरुष यदि फूल है
तो नारी पंखुड़ी है

पुरुष यदि धर्म है
तो नारी धीरता है

पुरुष यदि सत्य है
तो नारी श्रद्धा है

पुरुष यदि कर्म है
तो नारी विद्या है

पुरुष यदि सत्व है
तो नारी सेवा है और

पुरुष यदि स्वाभिमान है
तो नारी क्षमा है ।