Poem in Hindi Language – अशेष प्रेम – Unconditional Love Poem

Poem in Hindi Language – Unconditional Love Poem Poem in Hindi Language वज़ह के साथ उभरता है कुछ प्रेम सा तुम्हारा मंतव्य और लग जाता है प्रशंसा मेँ बनकर वक्तव्य बे वज़ह पिघल जाता है प्रेम समर्पण की स्थगित सांसों के साथ तुम्हारी अपेक्षाओं के हवन कुण्ड में पूर्णाहुति का उदघोष उठाता है उपेक्षा का

Love Poetry in Hindi – कुछ प्रेम सा – Hindi Poetry

Love Poetry in Hindi – कुछ प्रेम सा – Hindi Poetry Love Poetry in Hindi रिश्तों की प्रतीक्षा मेँ थमा सा प्रेम संवेदना के शिखर पर जमा सा प्रेम अपेक्षा की दीवार पर टँगा सा प्रेम उपेक्षा के आँगन में सहमा सा प्रेम लगता है गले अब लगा सा प्रेम बन्द किवाड़ों के पीछे ठिठका

Short Poem on Life – दास्तान ए ज़िन्दगी – Poem Of Life

Short Poem on Life – Poem Of Life Short Poem on Life गिरगिट रंग बदलते थे अब इन्सां भी रंग बदलते हैं मतलब को मज़बूरी कहकर जीने के ढंग बदलते हैं रख कर पैर वफ़ा के ऊपर अपनी राह पकड़ने वाले प्रेम के सारे आश्वासन् सुविधा के संग बदलते हैं बहुत लड़ चुके दुनियां से

Teaching of Buddha in Hindi – बुद्ध पूर्णिमा – Festival Poem in Hindi

Teaching of Buddha in Hindi – Festival Poem in Hindi Teaching of Buddha in Hindi धर्म को धारण करो धर्म को धार मत दो धर्म से रक्षा करो तुम उसे हथियार मत दो हिंसा को हर धर्म ने अधर्म ही कहा है धर्म को चिंगारियों से जलते विचार मत दो धर्म से चेतना के द्वीप

Life Without You Poem – तुम्हारे बिना – Short Poem on Loneliness

Life Without You Poem – Short Poem on Loneliness Life Without You Poem जब तक हमारा दिल था तुम्हारे शुमार में जी रहे थे हम भी ख़ुशी के खुमार में नादानियाँ बहुत थीं लेकिन सुकून था माथे पे हाथ रख दे कोई जैसे बुखार में तुम साथ थे ख़िज़ाँ भी लाती थी रौनकें तुम बिन

Labour Day Poem in Hindi – मज़दूर दिवस – Labour Day Poem

Labour Day Poem in Hindi  – Labour Day Poem Labour Day Poem in Hindi दूर कर दिया पूँजी की ख़ौफ़ ज़दा शांति को, नमन है श्रम को समर्पित उस महान क्रांति को, बनती रहीं अनगिनत पूँजी की ऊँची चोटियाँ, श्रम के पसीने से मिली मज़दूर को बस रोटियाँ, करती रही पूँजी सदा श्रम शक्ति की

Without You Poem – तुम बिन – Short Poem on Loneliness

Without You Poem – Short Poem on Loneliness Without You Poem तबस्सुम का असर तुम बिन अधूरा सा लगे है मुहब्बत का बसर तुम बिन अधूरा सा लगे है दामन मे फूल सिमटे हैं यादों की रहगुज़र के वफ़ा का ज़िकर तुम बिन अधूरा सा लगे है किस काम की मन्ज़िल बिखरी जहाँ तन्हाई साँसों

Oh God Poem – हे ईश्वर – Short Poem on Prayer

Oh God Poem – Short Poem on Prayer Oh God Poem अमरत्व की कल्पना से मनुष्य ने गढ़ लिया कुछ ईश्वर सा और प्रतिष्ठित कर दिया अपने रूप को सर्वशक्तिमान सा प्रार्थना के पटल पर परन्तु पालकर घृणा और द्वेष वंचित हो गया स्वयं अपनी रचना के ईश्वरत्व से और अब जी रही है निरंतर

Humanity Poem in Hindi – अच्छी बात – Together Poem

Humanity Poem in Hindi – Together Poem Humanity Poem in Hindi बात अच्छी नही है इतना अच्छा होना भी न तो अच्छाइयों के लिए न तो प्रशंशा के लिए और न ही धन्यवाद के लिए थोड़ी नाराज़गी और कुछ असंतोष भी ज़रूरी है रोकने के लिए अच्छाइयों को ठहरा जल बनने से

Poem on Relationship in Hindi – कितनी बार – Short Hindi Poem

Poem on Relationship in Hindi – Short Hindi Poem Poem on Relationship in Hindi कितनी बार चाँदनी लेकर चाँद खड़ा था राहों में कितनी बार पुकार तुमको भरकर अपनी आहों में कितनी बार बंद आँखों ने पाया तुम्हें निगाहों में कितनी बार कहा दिल ने भर लो मुझको बाँहों में

Sad Poetry in Hindi – कल रात – Hindi Kavita

Sad Poetry in Hindi – Hindi Kavita Sad Poetry in Hindi कल रात जकड़ लिया अंधेरों ने बेबसी को आलिंगन में बलात् कल रात बंद हो गई कराह, उजालों की मद्धम होते होते सड़क ने सुनी थी दर्द की चीख रोते रोते कल रात बुझ गई रौशनी अस्मिता बचाने के निर्णायक युद्ध में सुबह की

Man Poetry – आदमी – Poem About a Man With Integrity

Man Poetry – Poem About a Man With Integrity Man Poetry सियासत बता रही कि मुज़रिम है आदमी अपराध की गवाही से क़ातिल है आदमी पैबंद गुलामी का पैरहन में लगा कर आज़ाद मुल्क का यही हासिल है आदमी रहनुमा की बन्दिशों में दरिया की हलचलें लहरों की तमन्ना लिए साहिल है आदमी फिर भी

Budget Poem – बजट – Funny Poem in Hindi

Budget Poem in Hindi – Funny Poem in Hindi Budget Poem in Hindi बजट ज़िन्दगी की गणित में सपनों का मातम है दो जून की रोटी के जुगाड़ में इसकी कराह हर दिन रहती कायम है बजट विद्रूपता में लिपटी उम्मीदों का उत्सव है जहाँ आंकड़ों के कमाल से शतरंजी चाल से करिश्मों के भ्रम

Short Poem on Journey – बदलाव का सफ़र – Journey Of Life Poem

Short Poem on Journey – Journey Of Life Poem Short Poem on Journey बे वक़्त वक़्त हो तो सारे बदलते हैं नज़रों के फ़र्क़ से नज़ारे बदलते हैं आग़ाज़े सफ़र कर लो बंद मुट्ठियों का उंगलियों के फ़र्क़ से इशारे बदलते हैं मज़बूर कश्तियों को साहिल नहीं मिलता पतवार के फ़र्क़ से किनारे बदलते हैं

Poem on Globalization – वैश्वीकरण – Globalization Poems

Poem on Globalization – Globalization Poems Poem on Globalization सपने नहीं उगते भूख की बंजर ज़मीन पर आँतों की ऎंठनो का दर्द आँखों में उतर आता है और आक्रोश पेट के भूगोल में अक्सर बिखर जाता है समय, संवेदना और सरोकार सभी ने छला है जीने के प्रयास को देखते ही देखते ज़िन्दगी का चरित्र विज्ञापन

Poetry on Man – आदमी और सड़क – Poem About a Man With Integrity

Poetry on Man – Poem About a Man With Integrity Poetry on Man आती हुई लगती है सड़क जाती हुई लगती है सड़क सड़क कभी नहीं आती है सड़क कहीं नहीं जाती है सड़क बन जाती है सेतु किनारों की दूरियों हेतु आदमी कब सड़क बनेगा कब दूरियां कम करेगा आदमी का कद सड़क से

Dard E Dil – दर्द ए दिल – Heart Touching Love Poems in Hindi

Dard E Dil – Heart Touching Love Poems in Hindi Dard E Dil – दर्द ए दिल तेरी इक झलक ही काफी है मेरे जीने के लिए ! हवा का रूख ही काफी है आसमा को बरसने के लिए! बादलों की चादर जब ओढ़ लेती है आसमा , तड़प जाते है लोग रोशनी के लिए!

Feelings Poem – मुक्ति – Poem Feelings of Life

Feelings Poem – Poem Feelings of Life Feelings Poem कुछ बातें परे होती है द्वेष से राग से कुछ बातें अलग होती हैं हानि से लाभ से कुछ बातें मुक्त होती है मान से अपमान से परंतु मुक्त कहाँ हो पाता है मन कभी अपनी पहचान से