Hindi Kavitayen – मैं जब भी तुमसे बातें – Poem on Love in Hindi

Hindi Kavitayen – Poem on Love in Hindi

Hindi Kavitayen

मैं जब भी तुमसे बातें कर लेता हूँ,
तो सोचता हूँ
कि कहीं कुछ अधूरा रह गया शायद।

कुछ बातें थीं जो पूछनी थीं
मगर ये ज़ुबाँ न खुल सके,
कुछ बातें थीं जो बतानी थीं
मगर ये आँखें बयां न कर सकीं।

ख़ैर
अब तो शायद
यही तरीका रह गया है गुफ्तगू का,
अब कोई मतलब ही नहीं बनता
तुम्हारी आरज़ू का।।