Poem Intoxication – नशा – What is Intoxication – Life Poetry

Poem Intoxication – Life Poetry

Poem Intoxication – Life

सबने कहा नशा प्यार में होता है ।
मैंने कहा नशा इंतजार में होता है ।।
सबने कहा नशा आखों में होता है।
मैने कहा नशा नज़रों में होता है।।
सबने कहा नशा मिलने में होता है।
मैने कहा नशा जुदाई में होता है।।
लोग कहते है नशा पागलपन होता है ।
मैंने कहा नशा दीवानापन होता है।।
सबने कहा नशा रोग होता है।
मैंने कहा नशा दवा होता है।।
लोग कहते है नशा जीवन बर्बाद करता है।
मैंने कहा ये जरूरी नहीं जनाब,
हो अगर नशा किताबों का तो आबाद करता है।।

Spread the love

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *