Poem Mothers Day in Hindi – मां – Meri Maa Poem in Hindi

Poem Mothers Day

Poem Mothers Day

तू जननी है, प्रेम सुधा बरसाने वाली,
नवजीवन को गढ़ने वाली, अमृतपान कराने वाली।
प्रकृति में तू,जीवन में तू,सृष्टि का इतिहास भी तू।
हर कदम का अहसास भी तू।
तन मन का अभिमान भी तू।
नैनो की नीर भी तू, हर्ष भी तू, स्वाभिमान भी तू।
जीवन का अनुराग भी तू, हर पल का विश्वास भी तू।
भू भी तू, धरा भी तू, अम्बर भी तू, हवा भी तू।
सांस भी तू, रक्त प्रवाह भी तू।
स्पंदन का अहसास भी तू।
मेरे नैनो की जोत भी तू। दिवा और रात भी तू।
प्रथम वाणी की ध्वनि भी तू, अक्षर में सबसे प्यारी तू।
जीवन की प्रथम पाठशाला तू ,दर्द में प्रथम ध्वनि है तू,
मेरे इस जीवन का स्वर्ग भी तू, धरा भी तू।
इस सृष्टि का बैकुंठ भी तू।।

Spread the love

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *