Poem Waiting – एहसास इंतजार का – Poem About Waiting For Someone

Poem Waiting

Poem Waiting

एहसास इंतजार का पता होगा ही,
व्याकुलता भरे क्षण में प्रेम का दुगना हो जाना।
समय की सिथलता, हृदय का स्पंदन साफ सुनाई देना।।
भूली बिसरी यादों का एकाएक चित्रित हो जाना।
सपनों में खो जाना और सांसे लंबी हो जाना।।
अकेले यू मुस्कुराना, बातें करना, एकटक हो जाना।
हर पल जीने मरने की धुन, उमंगे बेहिसाब ।।
एक एक दिन की गिनती, ऊब डूब होता मन।
बिरह वेदना की पाठशाला, जिंदगी जीने की कला।।
ओह तुझे निहारता मन, सराबोर करती अंतरात्मा।
हृदय की कोमलता, नयनों की चपलता।।
आते ही बरस जाती हैं, इंतजार की घड़ी खत्म हो जाती है।