Thoughtful Poems – क्यों किसी मासूम के साथ – Hindi Poem

Thoughtful Poems – Hindi Poem

Thoughtful Poems

क्यों किसी मासूम के साथ इस कदर खेला जा रहा है,
इंसानियत तो पीछे रह गई और आदमी अकेला है।

सच के रास्तों पर इक्का दुक्का ही कोई मिलता है,
झूठी बुलंदी पर देखो, पूरा का पूरा मेला जा रहा है।

हमने तो बस आवाज़ उठाई थी दरिंदो के खिलाफ,
आखिर में हमें ही इन दरिन्दों में धकेला जा रहा है।