Tag: Beauty Poetry

Face Poem – वो चाँद से चेहरे वाली – Poem About Beauty

Face Poem – Poem About Beauty Face Poem वो चाँद से चेहरे वाली, कुछ ओढ़ कर आई है, वो मैला सा दुपट्टा ही है, या उसमें ही कोई दाग है। क्या खूब नज़ारा है घर का, हर ओर गुलिस्तां वाले हैं, इस छोर चमकता आँगन, उस ओर महकता बाग है। ये जिस्म नहीं है गीत

Beauty Poem – ये रात क्यों घनी होगी – Poem on Love in Hindi

Beauty Poem – Poem on Love in Hindi Beauty Poem ये रात क्यों घनी होगी, कुछ तो दुश्मनी होगी। आग लगा लूँ खुद को, तुझ में रोशनी होगी। रोने लगी हैं दीवारें, खून से सनी होगी। इश्क फिर ज़ुदा कैसे, योजना बनी होगी। छत पे शोर कैसा है, चंदा या चांदनी होगी। क्या ख़ूब रंग

Beauty Poetry – देखा उसे तो – Poem on Beautiful Girl in Hindi

Beauty Poetry – Poem on Beautiful Girl in Hindi Beauty Poetry देखा उसे तो देखता रह गया, गुलाबो सा चेहरा मदमस्त हॅसी, उसे देखा तो ऐसा लगा य़ही हॅ परी, बोले तो कोयल कुकना छोड दै, चहरे पर लाली ऐसी, उगता सुरज भी मानो सलाम करे, मानो या ना मानो हम दिवाने है उनके, उनसे